अपने चिट्ठे के लिये लिप्यांतर कोड आसानी से बनायें

आपने कई चिटठों पर लिपि बदल कर पढ़ने के लिंक देखे होंगे। लिप्यांतर की यह सुविधा भोमियो द्वारा दी गयी है। यह कोड कैसे बनता है इसके बारे में आप भोमियो की यह पोस्ट पढ़ें।

हिंदी टूलबार पिटारा से आप यह कोड बहुत ही आसानी से बना सकते हैं।

अपने चिट्ठे के मुख्य पृष्ठ पर जायें। पिटारा टूलबार के टूल मीनू पर क्लिक करें। इसके बाद ’लिपि बदल कर पढ़े’ पर जायें और वांछित लिपि पर क्लिक करें। आपका चिट्ठा उस लिपि में बदल जायेगा। अब अपने ब्राउजर से URL  को कापी कर लें। यह आपके चिट्ठे का उस लिपि के लिये लिंक होगा।

आगे की प्रक्रिया एक उदाहरण से समझते हैं।

यह रहा पिटारा के रोमन चिट्ठे का URL

http://bhomiyo.com/en.xliterate/hinditoolbar.wordpress.com/

अब रोमन लिंक बनाने के लिये निम्न कोड में अपने URL को भरें

<a href=”यहां अपने चिट्ठे का रोमन URL भरें”>रोमन</a>

इसी प्रकार बाकी लिपियों का भी लिंक बनायें और उसे अपने चिट्ठे पर सहेज दें।

कृपया पिटारा के संपूर्ण हिंदीकरण में सहायता दें

पिटारा टूलबार को पूरी तरह से हिंदी में करने के लिये आप सभी की सहायता चाहिये।अभी तक हमने केवल जाल स्थलों के नाम तथा लिंक आदि ही हिंदी में लिखे थे। अब इस टूलबार की सभी तकनीकि विकल्पों और सूचियों का हिंदीकरण किया जा रहा है।तकनीकि शब्दों के हिंदीकरण में मेरी कुछ सीमायें हैं क्योंकि मुझे  तकनीकि शब्दों के हिंदी अर्थों  का इतना ज्ञान नहीं है। आप दो तरीके से सहायता कर सकते हैं

1. जो हिंदी हमने टूलबार पर प्रयोग की है उसे जांच कर  और यदि हो सके तो कोई बेहतर वैकल्पिक शब्द सुझा कर।

2. जो तकनीकि शब्द या वाक्य अभी भी टूलबार पर अंग्रेजी में नजर आ रहे हैं उनकी हिंदी सुझा कर। आप अपने सुझाव यहां टिप्पणी के रूप में  दे सकते हैं अथवा hinditoolbar at gmail dot com पर मेल भी कर सकते हैं।

हिंदी टूलबार पिटारा यहां से डाउनलोड करें

कचरा हिंदी दिखे तो क्या करें?

यदि आपको मिलने वाली ईमेल में हिंदी की जगह पर कचरा नजर आ रहा है तो हिंदी टूलबार पिटारा के टूल मीनु में हमने एक यूनिकोड हिंदी रिपेयर टूल (Unicode Hindi Repair Tool)  का लिंक जोड दिया है

http://lang.ojnk.net:80/hindi/unifix.html

इस लिंक के बारे में रवि जी ने चिट्ठाकार समूह पर बताया।

तो अब जब भी मेल में आपको हिंदी की जगह कचरा हिंदी नजर आये तो उसे कापी करके इस लिंक पर दिये गये स्थान पर चिपकायें और फिक्स इट का बटन दबा दें। इसके बाद आप इसे पढ़ पायेंगे।

शब्दों के अर्थ खोजना हुआ आसान

शब्दार्थ खोजिये

जिन्हें भाषाओं से प्यार होता है उन्हें शब्दों से भी प्यार होता है। कोई कोई लेखक तो शब्दों के ही खिलाड़ी होते हैं। शब्दों के ऐसे सुन्दर सुन्दर और कलात्मक प्रयोग हुए हैं कि पूछिये मत। वास्तव में अच्छा लेखक ही वही है जो अपनी बात को प्रभावी और आसान शब्दों में अपने पाठकों तक पहुंचा दे।

मगर साहब कभी कभी कोई शब्द दिमाग में ऐसे अटकते हैं कि उनके अर्थ बता पाना कठिन हो जाता है। शब्द के भाव मन में होते हैं पर उसके अर्थ के लिये सही सही समानार्थ शब्द क्या होगा यह नहीं सूझता। कभी कभी आपको भी अपनी बात लिखते लिखते ऐसा लगता होगा कि जो  बात मैं लिखना चाहता हूं उसके लिये सही सही शब्द पकड़ में नहीं आ रहा। या कभी किसी अंग्रेजी शब्द का हिंदी अर्थ खोजना होता होगा तो कभी  हिंदी शब्द का अंग्रेजी अर्थ। हमने आपकी इस मुश्किल को आसान बनाया है शब्दकोश डॉट कॉम के साथ। इस शब्दकोश को हमने हिंदी टूलबार पिटारा में जोड़ दिया है। यदि आप इंटरनेट पर सर्च करते करते कोई ऐसा शब्द (अंग्रेजी अथवा हिंदी का) देखते हैं जिसका सही सही भावार्थ आपको  समझ नहीं आ रहा तो बस उस शब्द को अपने माउस से सैलेक्ट कर लीजिये। शब्द अपने आप टूलबार के सर्च बॉक्स में नजर आने लगेगा। अब बस सर्च बॉक्स में हमने जो शब्दकोश का ओप्शन दिया है उसे चुन कर सर्च करने के तीर पर चटका दे दीजिये। आपको शब्द का अर्थ और समानार्थक शब्द मिल जायेंगे।

तो अब शब्दों को चुन चुन कर उनसे सजाइये अपनी भाषा और आपको हमारा यह प्रयास कैसा लगा हमें अवश्य बताइये।

न कोई कोड चाहिये न स्क्रिप्ट, टूलबार पर क्लिक करें और लिपि बदल जायेगी

क्या आप पंजाबी, गुजराती, उर्दू, तेलुगू, उड़िया, तमिल, मलयालम या कन्नड़ समझते हैं पर पढ़ नहीं सकते?क्या आप इन भाषाओं के चिट्ठे पढ़ना चाहते हैं पर क्या करें चिट्ठाकार के भोमियो कोड ही नहीं लगा रखा?

आप अपने चिट्ठे को दूसरी लिपियों में पाठकों को पढ़वाना चाहते हैं पर जानते नहीं कि भोमियो कोड कैसे बनायें या लगायें?

क्या आप देखना और पढ़ना चाहते हैं कि उर्दू या अन्य भाषाओं के चिट्ठों, समाचार पोर्टल्स और साईट्स पर क्या क्या क्या लिखा जा रहा है?

यह सब तथा और भी बहुत कुछ अब संभव होगा हिंदी टूलबार पिटारा पर लगे भोमियो के लिप्यांतर बटन से, जिससे आप किसी भी साईट की लिपि बदल कर पढ़ सकेंगे। टूलबार के टूल मिनू में ’लिपि बदल कर पढ़ें’ ऑप्शन पर क्लिक करके आप जिस पृष्ठ पर होंगे उसी पृष्ठ की लिपि बदल सकेंगे, बस एक क्लिक से। इस तरीके से आप अपने चिट्ठे के लिये भी भोमियो कोड बना सकते हैं।

अपने चिट्ठे पर जायें और टूलबार पर लिप्यांतर के सभी ऑप्शन्स पर क्लिक करें। ब्राउजर में जो भी URL खुलेगा, वह उस लिपि के लिये आपके चिट्ठे का लिंक होगा।

तो है ना यह सब बहुत आसान?

टूलबार के मिनू में भी कई परिवर्तन किये गये हैं उसके बारे में अगले पोस्ट में।

लिप्यांतर के क्या क्या फायदे हैं उनके बारे में यहां भी पढ़ें

किसी भी साईट का लिप्यांतर होगा एक क्लिक से

आप को पाठक और डॉलर दोनो मिल सकते हैं इससे

ट्रांसलिट्रेशन का प्रतिच्छेदन….

गुयाना में हिन्दी है पर देवनागरी गुम

गूगल का इंडिक ट्रांसलिट्रेशन टूल भी जुड़ा

google-trans.jpg

गूगल का हिंदी ऑनलाइन  कीबोर्ड युक्त सर्च इंजन हमने पिछली बार हिंदी टूलबार में जोड़ा था। अब हमने गूगल का इंडिक ट्रांसलिट्रेशन टूल भी हिंदी टूलबार में जोड़ दिया है। इस के बटन पर क्लिक करते ही लिखने के लिये 320 X 205  आकार का एक नोटपैड स्क्रीन पर उभर आता है। इस पर फोनेटिक हिंदी टाइप की जा सकती है। हिंदी टाइपिंग की जानकारी न रखने वालों केलिये यह टूल बहुत काम आयेगा।

आपको पता होगा कि यह वही टूल है जिसे गूगल ने सबसे पहले ब्लॉगर में हिंदी चिट्ठा लिखने के लिये सम्मिलित किया था।

इस छोटे से विजेट को आप स्क्रीन पर कहीं भी सरका सकते है। बस कुछ भी टाइप करें और कापी कर कहीं भी पेस्ट कर दें। हो गया ना हिंदी लिखना बहुत आसान!

हिंदी टूलबार यहां से डाउनलोड करें।

Follow

Get every new post delivered to your Inbox.